Friday, 2 February 2018

Pacl Refund Status 2018 | सेबी के ऊप्पर हो अब हमला | Pacl Refund Status 2018 | Sebi Order To Pacl

Welcome To Pacl Refund Status 2018

सेबी के ऊपर डायरेक्ट मोर्चा
    सेबी के द्वारा पर्ल्स के 5.85 करोड़ निवेशकों को पेमेंट रिफंड के लिये जो परेशानी झेलनी पड़ रही है, उझसे तंग आकर भारत के सभी PACL निवेशकों के पेमेंट रिफंड हेतु कानूनी लड़ाई लड़ रही संगठना जनलोक प्रतिष्ठान ने सेबी हेड आफिस बांद्रा कुर्ला काम्प्लेक्स मुम्बई पर सीधा मोर्चा 26 फरवरी 2018 को निकालने का एलान किया है ।



इसे भी पढ़े :- सेबी का ऑनलाइन आवेदन जरूर भरे  
सेबी के वजह से निवेशकों को 3 साल से पेमेंट रिफंड नही हो पा रहा है इसलिए देश के
सभी निवेशक और संगठन एकजुट होकर सेबी के नाक में दम रोकने हेतु पूरी तैयारी में लग चुके है । अब तक सभी ने अपने अपने तरीके से अनेक प्रयास किये है मगर इस बार सही दिशा और असली गोल पर फोकस करते हुए अंतिम परिणाम हेतु लाखो की संख्या में भीड़ की जरूरत है ।

अगर इस आंदोलन में देश के 3 लाख लोगों की उपस्थिति हो गई तो समझो पेमेंट रिफंड की तारीख तय हो गई । सोचो अब हमें सफल होना है या विफल । आपका रिजल्ट अब आपके ही हाथ मे है क्योंकि सेबी के खिलाप एक ही दिन लाखो की भीड़ इकट्ठा होती है और वो भी उसी के घर मे तो एक दिन में देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा असर पड़ना है जिससे सरकार संकट में आकर बौखला जाएगी और उसे तत्काल कोई उचित निर्णय लेना ही पड़ेगा ।




सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑड इंडिया (SEBI) की कार्यप्रणाली तहस नहस हो जाएगी और मजबूरी में सेबी सरेंडर कर देगी । 
   लाखो की संख्या में भीड़ कैसे जुटाए?
 1, देश के प्रत्येक निवेशक को ये समझाये कि उनका पेमेंट सेबी  रोक कर उसे हड़पने की कोशिश में लगी है । संगठन सभी निवेशकों के लिए मदद कर रहा है  अतः आपको भी खुद के पैसे के लिए मोर्चे में शामिल होना है, इसलिए 26 फरवरी को मुम्बई आना पड़ेगा । 

2, देश के प्रत्येक गांव में एजेंट थे । वे एजेंट गांव के सरपंच के पास जाकर उसे निवेदन करे कि गांव के लोगो का जितना भी पैसा फसा हुवा है उस धनराशी को लौटाने में सेबी के द्वारा विलंब होते जा रहा है । अगर हमने इसवक्त कुछ नही किया तो ये करोड़ो रूपये डूब सकते है जिससे गांव के गरीब, किसान, मजदूर की आर्थिक स्थिति पर बुरा असर पड़ेगा इसलिए सरपंच साहब/ गांव मुखिया जी आप गांव के सभी लोगो को 26 फरवरी को मुम्बई आने हेतु गांव में मुनादी/दमडी द्वारा सूचना देने की कृपा करें । 

3, देश के सभी चौराहा, बस स्टैंड, रेल्वे स्टेशन और पब्लिक प्लेस पर बैनर या होर्डिंग बोर्डिंग के द्वारा सूचना फैलाये । इस कार्य को सभी एजेंट करे ।  प्रत्येक गांव में भी बैनर लगने चाहिए ।

 बैनर का मैटर रहेगा 
26 फरवरी को मुम्बई चलो
पर्ल्स (PACL) निवेशको के हित मे सेबी के मुम्बई हेड आफिस पर धड़क मोर्चा

4, देश के सभी एजेंट प्रत्येक महानगर, नगर, जिला, तहसील और गांव में मीटिंग लेकर सबको पाम्पलेट देकर 26 फरवरी के महा आंदोलन की तैयारी करेंगे । 

5, देश के सभी लोगो तक जानकारी पहुचानी होगी चाहे वो पर्ल्स का निवेशक भी न हो तो भी क्योकि ये लड़ाई जीतना सिर्फ संख्या पर निर्भर है और सेबी कड़क बंदोबस्त भी करके रखेगी इसलिए उसे सिर्फ भीड़ से ही मात दी जा सकती है । अपनी शक्ति केवल भीड़ है ।

6, मुम्बई में सभी अपने अपने बैनर लेकर आएंगे जिसमे क्षेत्र का नाम हो । पूरे देश के निवेशक और संगठन आएंगे इसलिए ट्रैन में और बसेस में 25 और 26 फरवरी को जगह की उपलब्धता सबको नही हो पाएगी इसलिए कुछ साथी अपनी अपनी टीम के लिए कंप्लीट ट्रैक्स और ट्रेवल्स बुक करके भी लेकर आएंगे । ये जन आंदोलन सेबी से पैसे वापसी पाने के लिए है  इसलिए पूर्ण तैयारी के साथ आना है ।
.
7, देश के सभी टीम लीडर जो नेतृत्व करेंगे वे पूरा ध्यान रखेंगे कि किसी भी प्रकार का कोई गलत कार्य आंदोलन में नही होना चाहिए । एक दूसरे के सहयोगी बनना है । सभी तहसील समिति से 3 नंबर हेल्पलाइन नंबर होना चाहिए । सेबी की कड़क पहरेदारी होते हुए भी हमे सफलता का झंडा लहराना है ।
   ये आर पार की लड़ाई है इसलिए निवेशकों के पैसों को वापसी पाने के लिए सबका साथ चाहिए ।


No comments:

Post a Comment